मोबाइल का अर्थ तथा शिक्षा में इसका उपयोग | Meaning of Mobile and its use in Education in hindi

मोबाइल फोन अथवा सामान्यतया मोबाइल एक बेतार, हाथ में पकड़ा जाने वाला यंत्र है जो उपयोगकर्ताओं को इस बात की अनुमति देता है कि वे कॉल कर सकें

मोबाइल का अर्थ (Meaning of Mobile)

मोबाइल फोन अथवा सामान्यतया मोबाइल एक बेतार, हाथ में पकड़ा जाने वाला यंत्र है जो उपयोगकर्ताओं को इस बात की अनुमति देता है कि वे कॉल कर सकें, तस्वीरें ले सकें, संदेश भेज सकें, आदि। मोबाइल फोन बेतार संजाल को रेडियो तरंगों अथवा सैटेलाइट प्रसार के माध्यम से जोड़ता है। मोबाइल फोनों का पुराना स्वरूप बहुत भारी था तथा केवल कॉल करने के लिए उपयोग में लाया जाता था। ये मोबाइल फोन, सेल्यूलर फोन अथवा सेल फोन कहलाते थे। अब, विकसित सेल फोन उपलब्ध हैं।

Meaning of Mobile and its use

आज सेल फोन का उपयोग टेक्सट और मल्टीमीडिया दोनों तरह के संदेश भेजने के लिए, वीडियो कॉल करने के लिए, इन्टरनेट के उपयोग, आदि के लिए होता है। मोबाइल फोन जिनमें बेहतर विशेषताएं हैं, उन्हें स्मार्ट फोन्स कहा जाता है। जैसा कि चर्चा की गयी है, मोबाइल आम डिजिटल यंत्र हैं जिनका उपयोग संवाद के लिए होता है, विशेषकर कॉल करने के लिए। लेकिन संवाद के अतिरिक्त, मोबाइल का उपयोग अन्य दूसरे कार्यों के लिए भी किया जाता है, जैसे कि ऑडियो/वीडियो रिकार्डिंग, कैमरे से के उपयोग के लिए, बैंक लेन-देन के लिए. ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए, ऑनलाइन बुकिंग के लिए, बिल भुगतान के लिए, सोशल मीडिया के द्वारा संवाद के लिए, फाइलों के संधारण के लिए, आदि।

मोबाइल फोन का शिक्षा में उपयोग भी दिन प्रति दिन बढ़ रहा है। जब मोबाइल यंत्र का उपयोग शिक्षण-अधिगम के लिए किया जाता है तो इसे मोबाइल लर्निंग अथवा एम-लर्निंग कहते हैं। एम-लर्निंग से अर्थ व्यक्ति द्वारा शिक्षण-अधिगम के लिए मोबाइल के उपयोग किये जाने से है, लेकिन किसी भी हाथ में पकड़े जाने वाले यन्त्र के उपयोग को भी एम-लर्निंग कहते हैं। हाथ में पकड़े जाने वाले यंत्रों में शामिल है टेबलेट स्मार्टफोन्स लैपटाप, नोटबुक्स, डिजिटल रीडर, एमपी3 पलेयर, आदि। इसलिए, किसी प्रकार की शिक्षण-अधिगम गतिविधि जो एक उठाने योग्य, हाथ में पकडे जाने वाले इलेक्ट्रानिक यंत्र द्वारा हो उसे एम-लर्निंग कहते हैं।

एम-लर्निंग का प्रमुख लक्षण हैं, मोबाइल यंत्रों द्वारा असीमित अधिगम सामग्री तथा विषयवस्तु तक पहुँच। इसलिए, छात्र उन सामग्रियों का अध्ययन कर किसी भी स्थान पर, अपनी रूचि के अनुसार सीख सकते हैं। एम-लर्निंग का महत्त्व, मोबाइल यंत्रो तक आसान पहुँच के साथ बढ़ रहा है। यह भी है कि मोबाइल यंत्र अन्य डिजिटल इलेक्ट्रानिक यंत्रों की तुलना में छोटे, सुविधाजनक तथा कम महँगे हैं। छात्र एक साथ मिलकर भी कार्य कर सकते हैं, सामग्री साझा कर सकते हैं तथा सूचनाओं तक पहुँच सकते हैं।

शिक्षा में मोबाइल का उपयोग (Mobile Use in Education)

आपकी शिक्षण-अधिगम प्रक्रियाओं में मोबाइल का उपयोग कई प्रकार से हो सकता है। आइये हम शिक्षा में मोबाइल के प्रमुख उपयोगों पर चर्चा करें-

1. शिक्षण अधिगम संसाधनों तक पहुँच:- मोबाइल का एक प्रमुख उपयोग शैक्षिक विषयवस्तुओं तक पहुंचना है। शिक्षक तथा छात्र दोनों ही प्रासंगिक शैक्षिक विषयवस्तु को एक इन्टरनेट से जुड़े मोबाइल पर ढूँढ सकते हैं। विषयवस्तु से संबद्ध फाइल को डाउनलोड कर ऑफलाइन भी पढा जा सकता है। उदाहरण के लिए, आप एनसीईआरटी की वेबसाइट पर जाकर पाठ्यपुस्तक सामग्री डाऊनलोड कर सकते है तथा उसे अपने मोबाइल पर संग्रहित कर सकते हैं।

उसी प्रकार से, आप किसी भी वेबसाइट पर जाकर वह सूचना प्राप्त कर सकते हैं जो आप तलाश रहे हैं। शैक्षिक वीडियो ऑडियो, आदि मोबाइल के माध्यम से देखे जा सकते है। इसलिए, आप मोबाइल का उपयोग शैक्षिक विषयवस्तु तक पहुँच के लिए कर सकते है।

2. मोबाइल एप्स का उपयोग:- ऐसे कई मोबाइल एप्लिकेशना मोबाइल एप्स हैं जो शिक्षा में संबंधित है। ये मोबाइल एप्स या तो निःशुल्क होते है अथवा शुल्क के साथ तथा मोबाइल यंत्र के पहुँच में होते हैं। कुछ निःशुल्क मोबाइल एप्स नीचे दिये गये हैं। आप ऐसे एप्पस का उपयोग अपने बच्चों को पढ़ाने में तथा अपने ठिकान को विकसित करने के लिए कर सकते हैं।

मोबाइल एप्स (Mobile Apps)

अंतःक्रिया तथा संवाद:- शिक्षक तथा छात्रों के बीच कक्षाकक्ष संवाद कक्षाकक्ष की चारदीवारों के भीतर तक सीमित रहती है, लेकिन मोबाइल तकनीकी ने शिक्षा के विभिन्न पणधारियों के बीच संवाद की संभावनाओं को विस्तार प्रदान किया है। शिक्षक और छात्र संवाद कर सकते हैं, साझा कर सकते हैं, सूचना तथा अधिगम सामग्री का आदान प्रदान कक्षाकक्ष के समय से परे भी कर सकते हैं। उसके लिए, विभिन्न सोशल मीडिया एप्प्स का इस्तेमाल करने की आवश्यकता होगी।

उसी प्रकार से, ऐसे एप्स का इस्तेमाल अभिभावकों के बीच संवाद के लिए भी हो सकता है। इसके लिए, आपको चैट एप्पस का उपयोग करना होगा या सोशल मीडिया समूह बनाने होंगे। सर्वाधिक लोकप्रिय सोशल मीडिया समूह हैं व्हॉटसएप्प, फेसबुक, ट्वीटर, आदि।

Read also

Post a Comment

Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.